सिरसा फास्ट ट्रैक कोर्ट ने सुनाया फैसला; बच्ची को 5 लाख का मुआवजा | Sirsa Fast Truck Court Judgement Father Raped Girls Death Sentence

हिसार28 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सिरसा कोर्ट कांप्लैक्स - Dainik Bhaskar

सिरसा कोर्ट कांप्लैक्स

सिरसा की फास्ट ट्रैक कोर्ट ने वीरवार को नाबालिग बेटी से दुष्कर्म करने के आरोपी पिता को फांसी की सजा सुनाई है। आरोपी को पोक्सो एक्ट के तहत यह सजा सुनाई गई। साथ ही अदालत ने IPC के सेक्शन 506 में सात साल की सजा सुनाई है। उसे 50 हजार रुपए जुर्माना भी लगाया है।

जुर्माना अदा न करने पर आरोपी को एक साल अतिरिक्त सजा भुगतनी पड़ेगी। इसके अलावा बच्ची को 5 लाख का मुआवजा देने के भी आदेश दिए गए हैं। अदालत ने दो साल 2 महीने में केस का निपटारा करके आरोपी को सजा दी।

पिता मां से करता था झगड़ा
घटना के समय गांव की 11 साल की नाबालिग बच्ची सातवीं कक्षा में पढ़ती थी। नाबालिगा ने पुलिस को 28 सितंबर 2020 को शिकायत दी कि वे तीन भाई बहन है। उसके पिता घर पर शराब पीकर लड़ाई झगड़ा करते रहते हैं। 26-27 सितंबर 2020 मेरे पिता ने मेरी मां के साथ झगड़ा करके उसे घर से निकाल दिया। रात को मैं अपने भाई के साथ चारपाई पर सोई हुई थी। मेरे पिता ने मुझे उठाकर दूसरी चारपाई पर डाल दिया। उसकी नींद खुल गई। पिता ने उसके साथ गलत काम किया। वह सारी रात रोती रही। परंतु पिता ने धमकी दी कि किसी को बताया तो जान से मार दूंगा।

असहनीय दर्द होने पर मां को बताया
सुबह उसकी मां घर वापस आ गई, लेकिन मैंने डर के मारे कुछ नहीं बताया। जब पेट में बहुत दर्द होने लगा तो 28 सितंबर 2020 को सुबह उसने अपनी मां को सारी बात बताई। इसके बाद मां मुझे गांव के सरपंच के पास ले गई। सरपंच ने थाने में फोन किया। पुलिस ने बाल कल्याण समिति के सदस्यों को साथ लेकर नाबालिग का मेडिकल करवाया। बच्ची के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हुई। पुलिस ने उस जगह की निशानदेही की, जहां पर बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ था। पुलिस ने 30 सितंबर 2020 को आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *