BJP अध्यक्ष दो शीर्ष कैथोलिक पादरियों से मिले, मुलाकात में नए संगठन पर हुई बात | BJP engaged in helping Christians over Love Jihad issue; BJP President JP Nadda meets two top Catholic priests

  • Hindi News
  • National
  • BJP Engaged In Helping Christians Over Love Jihad Issue; BJP President JP Nadda Meets Two Top Catholic Priests

तिरुवनंतपुरम4 मिनट पहलेलेखक: केए शाजी

  • कॉपी लिंक

केरल में भाजपा एक अलग रणनीति के साथ अपना मैदान तैयार करने में जुट गई है। हिंदू मतदाताओं को लुभाने के अलावा अब ईसाई धर्म के लोगों को भी साथ लाने की कवायद शुरू हो गई है। भाजपा यहां के ईसाई संगठनों के बीच इस्लामिक सोच के खिलाफ पनप रहे गुस्से का फायदा उठाना चाह रही है।

हाल ही में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा कोट्टयम जिले में जिला कार्यालय का उद्घाटन करने गए थे। इस दौरान उन्होंने कन्नाया कैथोलिक आर्कबिशप मैथ्यू मूलक्कट और चंगनस्सेरी के मेट्रोपॉलिटन आर्कबिशप मार जोसेफ पेरुमथोट्टम से मुलाकात की। ये दोनों केरल के शीर्ष कैथोलिक पादरी माने जाते हैं।

नारकोटिक्स जिहाद भी निशाने पर
राजनीतिक विशेषज्ञों का कहना है कि इस मीटिंग में एक सामाजिक-राजनीतिक संगठन खड़ा करने की बात कही गई। इसके जरिए चर्च और भाजपा के बीच की खाई को पाटा जा सकता है। भाजपा नेताओं का ये भी मानना है कि केरल में लव जिहाद के मुद्दे पर उसकी सोच वही है, जो ईसाई धर्म की है। कुछ पादरियों ने राज्य में मुसलमानों पर ‘लव जिहाद’ और नारकोटिक्स जिहाद का आरोप भी लग रहे हैं।

लव जिहाद के खिलाफ उठा चुके हैं आवाज
थालास्सेरी आर्कबिशप जोसेफ पाम्पलानी ने सभी चर्चों में एक पत्र भेजा था। इसमें चेतावनी दी गई थी कि कुछ चरमपंथी समूह ईसाई लड़कियों को फंसाने की कोशिश कर रहे हैं। क्रिश्चियन एसोसिएशन और अलायंस फॉर सोशल एक्शन (कासा) ने अप्रैल में आयोजित हिंदू महासभा में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ आवाज उठाई थी।

जेवियर खान वट्टयिल सहित कैथोलिक चर्च के कुछ प्रमुख पादरियों ने कासा को समर्थन भी किया था। कासा के कुछ सदस्य भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा में भी सक्रिय हैं, पर कासा ने अभी तक आधिकारिक तौर पर भाजपा के साथ सीधे संबंधों की घोषणा नहीं की है।

कई ईसाई नेता भाजपा से जुड़ना चाह रहे
बैठक में पादरियों ने नड्डा को हाल ही में हुई एक अन्य बैठक के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि कोच्चि में ईसाई पृष्ठभूमि वाले नेताओं की एक बैठक हुई थी। इसमें कई पूर्व विधायक और मंत्री शामिल हुए थे। इस बैठक को भारतीय क्रिश्चियन संघम (बीसीएस) नाम दिया गया। इससे जुड़े कई लोग भाजपा के साथ जुड़ने की इच्छा रखते हैं।

भाजपा की मुस्लिम वर्सेस ईसाई रणनीति
केरल में भाजपा मुस्लिम वोटर्स से मुकाबला करने के लिए ईसाई वोटर्स को अपने साथ जोड़ रही है। राज्य में ईसाई आबादी 18.38% है। ईसाई आबादी में भी सबसे बड़ी इकाई कैथोलिक है। केरल की वामपंथ सरकार ईसाई-मुस्लिम गठजोड़ के करण ही सत्ता पर काबिज हैं।

मोदी ने भी जनाधार बढ़ाने की बात कही
इसी महीने कोच्चि में बीजेपी कोर कमेटी की बैठक हुई थी। इसमें प्रधानमंत्री मोदी ने केरल के प्रदेश नेतृत्व से जनाधार न बढ़ा पाने के चलते नाराजगी जाहिर की थी। उन्होंने जनाधार बढ़ाने की बात कही। बैठक के बाद ही भाजपा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को केरल प्रभारी नियुक्त किया।

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *