सिर्फ भस्म आरती में छूट; लड्‌डू महंगा हुआ | Exemption only in Bhasma Aarti; laddoos became expensive

उज्जैन2 मिनट पहले

महाकाल मंदिर में 20 दिसंबर से मोबाइल पर बैन लगाया जाएगा। श्री महाकाल मंदिर प्रबंध समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। समिति अध्यक्ष कलेक्टर आशीष सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को बैठक हुई। मंदिर कैम्पस में फिल्मी सॉन्ग्स पर VIDEO बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड करने के मामले बढ़ने पर मंदिर प्रबंध समिति ने महाकाल मंदिर कैम्पस को नो मोबाइल जोन में बदलने का निर्णय लिया है। यानी अब कोई भी श्रद्धालु अपने साथ मोबाइल नहीं ले जा पाएगा। मंदिर परिसर में किसी के पास मोबाइल पकड़ा गया तो जुर्माना वसूला जाएगा।

हालांकि, भस्म आरती में मोबाइल ले जाने की छूट रहेगी। वह इसलिए कि ऑनलाइन बुकिंग करवाने वाले श्रद्धालुओं के टिकट मोबाइल पर जारी होते हैं। उन्हें मंदिर में प्रवेश के पहले मोबाइल पर जारी टिकट की जांच करवाना पड़ती है। शनिवार को मंदिर में महिला सुरक्षाकर्मियों के डांस के दो VIDEO सामने आए थे। दोनों महिला सुरक्षाकर्मियों को बर्खास्त कर दिया गया है। सुरक्षाकर्मियों के एंड्रॉयड मोबाइल रखने पर इसी दिन पाबंदी लगा दी गई थी।

आज महाकाल के भस्म आरती दर्शन…

महाकालेश्वर मंदिर में भस्म आरती के दौरान आज तड़के 4 बजे मंदिर के कपाट खोले गए। भगवान महाकाल का जल से अभिषेक कर दूध, दही, घी, शहद, शक्कर, ताजे फलों के रस से बने पंचामृत से अभिषेक पूजन हुआ। रजत के आभूषणों और भांग, चंदन, सूखे मेवे से दिव्य श्रृंगार किया गया।

महाकालेश्वर मंदिर में भस्म आरती के दौरान आज तड़के 4 बजे मंदिर के कपाट खोले गए। भगवान महाकाल का जल से अभिषेक कर दूध, दही, घी, शहद, शक्कर, ताजे फलों के रस से बने पंचामृत से अभिषेक पूजन हुआ। रजत के आभूषणों और भांग, चंदन, सूखे मेवे से दिव्य श्रृंगार किया गया।

कहां जमा होंगे भस्म आरती में शामिल होने वाले श्रद्धालुओं के मोबाइल?
कोई भी श्रद्धालु अपने साथ मोबाइल नहीं ले जा पाएगा, लेकिन भस्म आरती में मोबाइल ले जाने की छूट रहेगी। ऑनलाइन बुकिंग करवाने वाले श्रद्धालुओं के टिकट मोबाइल पर जारी होते हैं। उन्हें मंदिर में प्रवेश के पहले मोबाइल पर जारी टिकट की जांच करवाना पड़ती है। इसके बाद ही उन्हें भस्म आरती में प्रवेश दिया जाता है। भस्म आरती करने वाले श्रद्धालुओं के मोबाइल विश्रामधाम में जमा करवाए जाएंगे।

समिति सदस्यों के अनुसार मंदिर के अफसर, पंडे, पुजारी मोबाइल ले जा सकेंगे, लेकिन उनका उपयोग नहीं कर पाएंगे। ऐसा होने पर उनके खिलाफ भी नियमानुसार कार्रवाई की जा सकती है। बैठक में महापौर मुकेश टटवाल, मंदिर प्रबंध समिति सदस्य राजेंद्र गुरु, रामजी पुजारी, प्रशांत गुरु, प्रशासक संदीप सोनी और लोकेश चौहान मौजूद थे। कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि मंदिर परिसर में फोटो खींचने के लिए समिति की ओर से अधिकारिक व्यक्ति रहेगा। श्रद्धालु उससे फोटो खिंचवा सकेंगे।

बाकी श्रद्धालुओं के मोबाइल कहां रखेंगे?
महाकाल लोक के लोकार्पण के बाद श्रद्धालुओं की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। मंदिर समिति के अनुसार, पूर्व में 10 से 25 हजार श्रद्धालु औसत प्रतिदिन आते थे, जो बढ़कर 35 से 50 हजार हो गए हैं। इसके अलावा पर्व, त्योहार और अवकाश के दिन यह आंकड़ा बढ़कर 50 हजार से एक लाख तक पहुंच जाता है। मंदिर प्रशासक के अनुसार इतनी संख्या में आने वाले श्रद्धालुओं के मोबाइल कहां रखेंगे? इसकी व्यवस्था 15 दिन में कर ली जाएगी।

क्यों लगाना पड़ा बैन?
मंदिर कैम्पस में फिल्मी सॉन्ग्स पर VIDEO बनाकर वायरल करने के कई मामले आ चुके हैं। ऐसे मामलों को रोकने के लिए मंदिर कैम्पस में मोबाइल पर बैन लगाया गया है। यह निर्णय महाकाल मंदिर प्रबंध समिति की बैठक में लिए गए हैं। समिति अध्यक्ष व कलेक्टर आशीष सिंह की अध्यक्षता में बैठक हुई। उन्होंने बताया कि मंदिर परिसर में फिल्मी गीतों पर VIDEO बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल होने के मामले बढ़ने पर महाकाल परिसर को नो मोबाइल जोन में बदलने का निर्णय लिया है।

बाबा महाकाल के लड्‌डू प्रसाद के लिए अब भक्तों को ज्यादा दाम चुकाना पड़ेंगे। बैठक में प्रसादी का दाम भी बढ़ा दिया गया है। श्रद्धालुओं को अब 60 रुपए ज्यादा चुकाने पड़ेंगे।

बाबा महाकाल के लड्‌डू प्रसाद के लिए अब भक्तों को ज्यादा दाम चुकाना पड़ेंगे। बैठक में प्रसादी का दाम भी बढ़ा दिया गया है। श्रद्धालुओं को अब 60 रुपए ज्यादा चुकाने पड़ेंगे।

इसलिए बढ़ाना पड़े लड्‌डू प्रसादी के दाम?
बाबा महाकाल के लड्‌डू प्रसाद के लिए अब भक्तों को 60 रुपए ज्यादा चुकाने पड़ेंगे। अभी तक लड्‌डू प्रसाद 300 रुपए किलो में मिलता था, जिसे 360 रुपए करने का निर्णय मंदिर प्रबंध समिति की बैठक में लिया गया है। मंदिर प्रशासक का कहना है कि मंदिर की खुद की लडडू प्रसादी निर्माण इकाई चिंतामण में है। वहां पर बनाए जा रहे लड्डुओं की लागत 374 रुपए प्रतिकिलो पड़ रही है। ऐसे में मंदिर समिति को प्रति किलो लड्डू पर 74 रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसे देखते हुए लड्डू प्रसाद के दाम 60 रुपए बढ़ाकर 360 रुपए किए जाएंगे। 3 दिन बाद श्रद्धालुओं को इसी दाम पर लड्डू मिलेंगे।

मद्रास हाईकोर्ट ने तमिलनाडु के मंदिरों पर लगाया बैन
हाल ही में मद्रास हाईकोर्ट ने तमिलनाडु के मंदिरों में मोबाइल फोन पर बैन लगा दिया है। कोर्ट ने कहा- यह फैसला मंदिरों की शुद्धता बनाए रखने के लिए लिया है। श्रद्धालुओं को परेशानी न हो, इसके लिए मंदिरों के बाहर फोन लॉकर्स बनाने चाहिए। इस आदेश का पालन करने के लिए मंदिरों में सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाएं। दरअसल, कोर्ट में एक व्यक्ति ने याचिका दायर की थी कि मंदिर में फोन से ध्यान भटकता है। महिलाओं की फोटो उनकी इच्छा के विरुद्ध खींची जाती है।

ये भी पढ़ें…

मंदिर की सुरक्षाकर्मियों ने बनाया… जीने के बहाने लाखों हैं… गाने पर VIDEO, दोनों बर्खास्त

महाकाल मंदिर में एक बार फिर फिल्मी गानों पर डांस का वीडियो बनाने का मामला सामने आया है। इस बार ये काम किसी श्रद्धालु ने नहीं बल्कि मंदिर की सुरक्षाकर्मियों ने ही किया। मंदिर की सुरक्षा का जिम्मा KSS कंपनी के पास है। इसी में काम करने वाली महिला सुरक्षाकर्मियों के VIDEO सामने आए। जिसके बाद सुरक्षा एजेंसी ने शनिवार को दोनों कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया। साथ ही मंदिर में तैनात सुरक्षा कर्मचारियों के एंड्रॉयड मोबाइल रखने पर भी बैन लगा दिया। पूरी खबर पढ़िए

‘रग-रग में इस तरह तू समाने लगा’ गाने पर रील्स, हुई FIR

करीब एक साल पहले मनीषा रोशन नाम की महिला ने महाकाल मंदिर में एक VIDEO शूट किया था। VIDEO में उन्होंने फिल्मी गाने ‘रग-रग में इस तरह तू समाने लगा’ गाने पर रील्स शूट कर सोशल मीडिया पर अपलोड किया था। यह VIDEO महाकाल स्थित ओंकारेश्वर मंदिर के पास शूट किया गया था। VIDEO वायरल होने के बाद हिंदू संगठनों ने आपत्ति जताई थी, जिसके बाद महिला द्वारा माफी मांगने के बाद भी FIR दर्ज हुई थी। पढ़ें, पूरी खबर…

महाकाल मंदिर में युवतियों ने बनाई वीडियो रील

महाकाल मंदिर परिसर में वीडियो रील बनाने को लेकर एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, गर्भगृह और मंदिर परिसर में दो युवतियों ने जलाभिषेक और डांस का वीडियो शूट किया है। इन वीडियो में बॉलीवुड सॉन्ग जोड़कर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया गया। इस पर मंदिर के पुजारी ने आपत्ति दर्ज कराई है। वहीं, कलेक्टर ने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

मंदिरों और सार्वजनिक स्थानों पर वीडियो रील बनाने को लेकर नीचे दी गई खबरें भी पढ़िए…

छतरपुर में मंदिर के गेट पर सेकेंड हैंड जवानी गाने पर थिरकी युवती

करीब एक साल पहले छतरपुर में भी एक ऐसा ही VIDEO सामने आया था। यहां एक युवती ने मंदिर परिसर में सेकेंड हैंड जवानी… गाने पर डांस किया था। VIDEO छतरपुर के जनराय टोरिया मंदिर में बनाया गया था। हिंदूवादी संगठनों ने इस पर आपत्ति दर्ज करवाई थी। वहीं, मंदिर के महंत ने कहा था कि युवती के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। ऐसी हरकतें कर मंदिर, मठ और आश्रमों को बदनाम न करें। पढ़ें, पूरी खबर…

मंदिर में डांस करने वाली युवती पर हुई थी FIR

छतरपुर जिले के लवकुशनगर अनुविभाग में स्थित बंबरबैनी माता मंदिर की सीढ़ियों पर एक छात्रा नेहा मिश्रा ने डांस किया था। उसने इसका वीडियो सोशल मीडिया पर भी अपलोड कर दिया। जिस पर लोगों ने आपत्ति जताई थी। इसके बाद मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने युवती पर FIR दर्ज कराने के आदेश दिए थे। पूरी खबर पढ़ें…

इंदौर में मॉडल ने चौराहे पर डांस किया

इंदौर में करीब एक साल पहले बीच चौराहे पर एक मॉडल के डांस ने हंगामा मचा दिया था। मॉडल के डांस की वजह से थोड़ी देर सड़क पर ट्रैफिक भी रुका रहा था। अब गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि मामला जानकारी में आया है। भाव जो भी हो, लेकिन तरीका गलत है। ट्रैफिक नियमों के तहत कार्रवाई होगी। ऐसी हरकत आगे न हो, इसलिए अफसरों को आदेश दिया गया है। पढ़ें, पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *